Categories
लाइफस्टाइल

Basant Panchami 2021: 16 फरवरी को मनाई जाएगी सरस्‍वती पूजा, जाने शुभ मुहूर्त, पूजा विधि

जानें क्यों मनाई जाती है सरस्‍वती पूजा


भारत के उत्तरी भाग में बसंत पंचमी बहुत ही ज्यादा धूमधाम से मनाई जाती है.  मान्यताओं के अनुसार बसंत पंचमी के दिन विद्या की देवी सरस्‍वती माँ का जन्म हुआ था इसलिए इस दिन बसंत पंचमी आते आते सरसों के खेत लहलहा उठते हैं, साथ ही साथ चना, जौ, ज्‍वार और गेहूं की बालियां खेतों में लहरा उठती है और बसंत पंचमी के दिन से ही बसंत ऋतु का प्रारंभ भी होने लगता है.  जैसा की हम सभी लोग जानते है कि हमारे देश में छह ऋतुएं होती हैं लेकिन बसंत ऋतु को ऋतुओं का राजा कहा जाता है क्योंकि इस दौरान मौसम सुहाना हो जाता है और पेड़ पौधों में नए फल-फूल भी लगने लगते हैं और कई जगह तो इस दिन पतंगबाजी भी होती है.

 

16 फरवरी को मनाई जाएगी बसंत पंचमी

 

हमारे देश में हिन्‍दू पंचांग के अनुसार बसंत पंचमी हर साल माघ मास शुक्‍ल पक्ष की पंचमी को मनाया जाता है. ग्रेगोरियन कैलेंडर के अनुसार बसंत पंचमी हर साल जनवरी या फरवरी में मनाई जाती है. इस साल बसंत पंचमी 16 फरवरी को मनाई जाएगी.

 

और पढ़ें: अगर आप भी कर रहे है मुगल गार्डन जाने की तैयारी, तो  यहाँ जाने उससे जुड़ी जरूरी बातें

 

Image source – indiatv.in

 

जाने बसंत पंचमी की तिथि और शुभ मुहूर्त

बसंत पंचमी की तिथि: 16 फरवरी 2021

बसंत पंचमी की तिथि प्रारंभ: 16 फरवरी 2021 को सुबह 03 बजकर 36 मिनट से

बसंत पंचमी की तिथि समाप्‍त: 17 फरवरी 2021 को शाम 05 बजकर 46 मिनट तक

पूजा का शुभ मुहुर्त: 16 फरवरी 2021 को सुबह 06:59 से दोपहर 12:35 मिनट तक

 

जानें बसंत पंचमी की पूजा विधि

बसंत पंचमी के दिन पश्चिम बंगाल , बिहार और झारखंड में सरस्‍वती पूजा का विशेष महत्‍व है. इस दिन लोग न सिर्फ अपने घरों में बल्कि शिक्षण संस्‍थाओं में भी सरस्‍वती पूजा का आयोजन करते है. इस दिन विद्या की देवी सरस्‍वती माँ की पूजा करते हुए उन्हें फूल अर्पित किए जाते हैं. साथ ही साथ इस दिन वाद्य यंत्रों और किताबों की पूजा की जाती है और छोटे बच्चों को इसी दिन सबसे पहले अक्षर ज्ञान कराया जाता है. उन्‍हें किताबें भी भेंट की जाती है और इस दिन पूजा के लिए पीले रंग के कपड़े पहनना शुभ माने जाते हैं.  इस दिन पीले रंग का भोजन खाया जाता है। बंगाल में तो इस दिन पीले रंग की खिचड़ी खाई जाती है.

 

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments