मुस्लिम सात देशों पर लगे ट्रैवल बैन को हटा सकते है ट्रंप


ट्रैवल बैन को हटा सकते है ट्रंप


अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा सात मुस्लिम देशों पर लगे ट्रैवल बैन से पीछे हटते नजर आ रहे हैं। ट्रंप द्वारा दिए इस आदेश के बाद उन्हें लगातार आलोचनाओं का सामना करना पड़ा रहा था।

अमेरीका राष्ट्रपति उम्मीदवार चुनाव- दक्षिणी कैरोलिना में जीते ट्रंप!

नया ऑर्डर अगले सप्ताह ला सकते हैं

डोनाल्ड ट्रंप के प्रशासन ने कोर्ट में अपने जवाब में कहा कि ट्रैवल बैन जल्द ही वापिस लिया जाएगा। इसे लेकर किसी रैव्यू पैनल की जरुरत नहीं हैं। व्हाइट हाउस ने साफ किया कि इसको लेकर नया ऑर्डर अगले हफ्ते आ सकते हैं। डोनाल्ड ट्रंप ने 27 जनवरी को 7 मुस्लिम देशों के लोगों पर इमिग्रेशन बैन लगाया था जिसके बाद अमेरिका के कई राज्य इस फैसले का विरोध किया था।

खबरों की मानें तो व्हाइट हाउस की तरफ से कोर्ट में कहा गया कि डोनाल्ड ट्रंप का मकसद देश की सुरक्षा है ना कि किसी फैसले को लेकर लंबी प्रक्रिया में फंसना, गौरतलब है कि पिछले हफ्ते 3 जजों की एक बेंच ने लोअर कोर्ट के फैसले को रद्द करने से मना कर दिया था।

कई राज्यों ने किया था विरोध

इससे पहले डोनाल्ड ट्रंप द्वारा मुस्लिम देशों के ट्रैवल के लिए बैन लगा दिया था। जिसके बाद वाशिगंटन और मिनेसोटा राज्यों ने कोर्ट में इस फैसले के विरुद्ध केस दायर किया था और ट्रंप द्वारा दिए गए ऑर्डर को गैरकानूनी बताया था। इन दोनों राज्यों के अलावा अमेरिका के अन्य 18 राज्यों ने भी इस फैसले का विरोध किया था।
आपको बता दें अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने 27 जनवरी को अपने एक फैसले में इराक, ईरान, लीबिया, सूडान, सीरिया, सोमालिया और यमन के नागरिकों पर इमिग्रेशन बैन लगाया था। इसके तहत के यहां के लोग 90 दिनों तक अमेरिका में एंट्री नहीं ले पाएंगे।

आपको बता दें पिछले साल नवंबर में डेमोक्रेटिक पार्टी हिलेरी क्लिटंन को राष्ट्रपति चुनाव में हराकर अमेरिका के 45वें राष्ट्रपति बने थे.
अपने शपथ ग्रहण समारोह के दौरान ही उन्होंने मुस्लिम राष्ट्रों को अपने निशाने पर रखा था। इसके साथ ही अमेरिका फर्स्ट का नारा दिया था।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in
Story By : Poonam MasihPoonam Masih
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
%d bloggers like this: