भारत

500 और 1,000 रूपये के पुराने नोट बंद करने की घोषणा

500 और 1,000 रूपये के नोट स्वीकार करने की छूट उपलब्‍ध


500 और  1000 रुपये के  नोट बंद

काले धन, आतंकवाद, जाली नोटों पर लगाम लगाने के लिए मोदी सरकार ने एक बड़ा कदम उठाया है। मंगलवार की रात प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने राष्‍ट्र को संबोधित करते हुए आठ नंवबर की आधी रात यानी नौ नंवबर से 500 और 1,000 रूपये के नोट बंद कर दिए है।  मोदी ने अपने भाषण में कहा, भ्रष्टाचार, काले धन और जाली नोट के कारोबार में लिप्त देश विरोधी, समाज विरोधी तत्वों के पास मौजूद 500 और 1,000 रूपये के नोट अब सिर्फ कागज़ के एक टुकड़े के समान ही  रह जायेंगे।

500 और 1,000 रूपये के पुराने नोट बंद करने की घोषणा
500 और 1,000 रूपये के पुराने नोट बंद

यहाँ पढ़ें : 500 और 1000 रुपये के नोट बंद होने पर ट्विटर पर रिएक्‍शन

एटीएम और बैंक बंद

नौ और दस नंवबर को एटीएम बंद रहेगें और शुरूआत में एटीएम से सिर्फ 2000 रूपये तक ही निकल पाएगें। 50 दिन में यानि 10 नवम्बर से लेकर 30 दिसंबर तक आप डाकघर और बैंक में जमा करवा सकते है। पब्लिक डीलिंग के लिए नौ नंवबर को सभी बैंक बंद रहेगें। तत्काल जररूत के लिए 500 और 1,000 रूपये के पुराने नोटों को नए और मान्य नोट के साथ 10 नवम्बर से 30 दिसम्बर तक  किसी भी बैंक, डाकघर, हेड पोस्ट ऑफिस और सब-पोस्ट पोस्ट ऑफिस के काउंटर से अपना आधार कार्ड, मतदाता यानी वोटर कार्ड, राशन कार्ड, पासपोर्ट, पैन कार्ड आदि जैसे सबूत के रूप में पेश करके आप नोट बदल सकते हैं।

इन जगहों पर नोटों की छूट उपलब्‍ध

11 नवम्बर की रात्रि 12 बजे तक, रेलवे टिकट बुकिंग काउंट पर सरकारी बसों  टिकट बुकिंग काउंटर पर और हवाई अड्डों पर, एयरलाइन्स के टिकट बुकिंग काउंटर पर, सरकारी अस्‍पताल, दवा की दुकानों पर, पेट्रोल, डीजल, सीएनजी की खरीद पर के लिए पुराने नोट अर्थात 500 और 1,000 रूपये के नोट स्वीकार करने की छूट उपलब्‍ध है।

आप को बता दें, 100 रुपये, 50 रुपये, 20 रुपये, 10 रुपये, 5 रुपये, 2 रुपये,  1 रूपया के नोट और सिक्के लेन देन के लिए उपयोग किए जा सकते है। उनपर कोई रोक  नहीं लगाई गई है।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
Back to top button
Hey, wait!

अगर आप भी चाहते हैं कुछ हटके वीडियो, महिलाओ पर आधारित प्रेरणादायक स्टोरी, और निष्पक्ष खबरें तो ऐसी खबरों के लिए हमारे न्यूज़लेटर को सब्सक्राइब करें और पाए बेकार की न्यूज़अलर्ट से छुटकारा।