Categories
पर्यटन

भारत की ये 5 हिल स्टेशन बेस्ट हैं क्रिसमस और न्यू ईयर सेलिब्रेशन के लिए

इस क्रिसमस और न्यू ईयर ईव को सेलिब्रेट करें इन हिल स्टेशन पर


हर साल के आखिरी महीने में लोग क्रिसमस और न्यू इयर के सेलिब्रेशन के प्लान बनाने में जुट जाते हैं। ज्यादातर लोग इस वीकेंड को स्पेशल बनाने के लिए ऐसी जगहों की तलाश में रहते है जहां वो क्रिसमस संग न्यू ईयर पार्टी का मजा अच्छे से ले सके। आज आपको भारत की कुछ ऐसी ही जगहों के बारे में बताने जा रहें है जहाँ इन खूबसूरत जगहों पर आप क्रिसमस और न्यू ईयर को सुकून से एन्जॉय कर सकते हैं। भारत की इन जगहों पर आप डिफरेंट चर्चों के मजे ले सकते हैं।

क्रिसमस और न्यू ईयर ईव

आइए जानते हैं कि भारत की ऐसी ही कुछ खूबसूरत जगहों के बारे में जहां आप क्रिसमस और न्यू ईयर दोनों एन्जॉय कर सकते है: –

  • नैनीताल सेंट जॉन चर्च

नैनीताल की यह चर्च जंगल सेंट जॉन के नाम से जानी जाती है जो कि क्रिसमस और न्यू ईयर मनाने के लिए बेस्ट हैं। इसके साथ ही आप यहां के खूबसूरत नजारों को भी अच्छे से लुफ्त उठा सकते है।

  • कोच्चि सेंट फ्रांसिस चर्च

यह चर्च भारत के कोच्चि में स्थित है जो कि भी क्रिस्चियन समुदाय की हिस्ट्री को बयां करता है। क्रिसमस के दिनों में यह चर्च किसी विदेशी स्पॉट से कम नहीं लगता। क्रिसमस के दिनों में आप यहां खूबसूरत सजावट देख सकते है।

  • मैसूर सेंट फिलोमिना

इस चर्च को एशिया का सबसे बड़ा दूसरा चर्च माना जाता है। यहां पर क्रिसमस से लेकर न्यू ईयर तक का सेलिब्रेशन बेहद जोर-शोर से किया जाता है। सेंट जोसेफ चर्च के नाम से जानी जाने वाली इस चर्च में आपको वास्तुशिल्पीय शैली देखने को मिल सकती है।

क्रिसमस और न्यू ईयर ईव
  • शिमला क्राइस्ट चर्च

उत्तरी भारत की दूसरी सबसे पुरानी और खुबसूरत चर्च जिसकी खूबसूरती देखकर सब हैरान हो जाते हैं। शिमला में बनी इस क्राइस्ट चर्च को ‌हिल्स क्वीन का ताज भी कहा जाता है। शिमला में आप क्रिसमस के साथ न्यू ईयर भी आराम से सेलिब्रेट कर सकते है।

  • केरल मलायातूर चर्च

केरल के सबसे खूबसूरत और शांत चर्च जो क्रिस्चियन धर्म को समर्पित है। पहाड़ों के ऊपर बने इस चर्च में क्रिसमस से लेकर न्यू ईयर तक फुल ऑन सेलिब्रेशन चलता ही रहता है। पहाड़ों पर बने इस चर्च में जाकर प्रार्थना करने का मजा ही कुछ और हैं।

 Also read : भारत घूमने के ऐसे 7 बेस्ट प्लेसेस वो भी मिनिमम बजट में

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in

Categories
सामाजिक

6 सीक्रेट्स भाई-बहन के, जो दिलाती है बचपन की याद

भाई-बहन और उनके बीच के सीक्रेट्स


भाई-बहन का रिश्ता कुछ खट्टा और कुछ मीठा लेकिन प्यार और स्नेह से भरा होता है। भले ही भाई-बहन के बीच लाख झगड़े होते हो लेकिन प्यार उससे भी उतना ही ज्यादा होता है। इस रिश्ते में हमारा पूरा बचपन कैद होता है। अगर दोनों में से किसी पर मुसीबत आ जाए तो दोनों एक-दुसरे की मदद के लिए हमेशा तैयार रहते हैं। अगर कभी भाई को मम्मी-पापा की डांट से बचना हो तो बहन उसकी पूरी-पूरी मदद करती है, वहीं भाई भी अपनी बहन की मदद करने से कभी पीछे नहीं हटता।

भाई-बहन

बचपन से लेकर बूढा़पे तक भाई-बहन दोनों बिना किसी स्वार्थ के एक-दूसरे के दोस्त बनकर रहते हैं, चाहे उन दोनों में कितनी भी झगड़े क्यों न हो जाएं लेकिन उनके बीच का प्यार हमेशा बरकरार रहता है। वैसे तो अगर भाई-बहन हमउम्र हों तो वो दोनों एक-दुसरे के सबसे अच्छे दोस्त होते हैं और दोनों अपनी बातें शेयर भी करते हैं। वैसे देखा जाए तो भाई के कुछ सीक्रेट्स ऐसे होते है जिन्हें वह अक्सर अपनी बहन के साथ शेयर करता है इसी वजह से दोनों के बीच अक्सर कुछ बातों को डील चलती रहती है और यही बातें हमें जिंदगी भर याद रहती है।

आइए जानते हैं कि ऐसे कौन-कौन से डील्स होते हैं जिसकी हमेशा याद बनी रहती है: –

1. भाई- बहन हर बात पर करते है डील

अक्सर भाई ज्यादा आलसी होते हैं खास कर तब जब वो छोटे हों। कभी-कभी हम सब में इतना आलस भरा होता है कि हमें प्रायः काम करने का मन नहीं करता और ऐसे में हम अपने भाई या बहन को कुछ ऐसे काम करने के लिए कहते हैं जिसके लिए वो तैयार नहीं होता या उस काम को करने के लिए मना कर देता है। तो इस सिचुएशन में हम उसके साथ डील करते हैं और कहते हैं कि अगर तुम मेरा यह काम करोगे, तो बदले में तुम्हारे दस काम करूगां/करूंगी।

2. एक-दूसरे के सीक्रेट्स

हमउम्र भाई-बहनों को एक-दूसरे की बहुत सारे सीक्रेट्स पता होते हैं। अगर वो चाहें तो कभी-भी एक-दूसरे को आसानी से ब्लैकमेल कर सकते हैं। लेकिन वो ऐसा नहीं करते और मम्मी-पापा से एक-दूसरे की बातों को आसानी से छिपा लेते हैं लेकिन अक्सर अपनी सीक्रेट्स बातों के लिए इनके बीच डील होती है।

भाई-बहन

3. ज्‍यादा डिमांड ना करना

भाई अक्सर बहन को कहता है कि प्लीज, राखी पर गिफ्ट की ज्यादा डिमांड मत करना क्योंकि मेरे पास पैसे कम है। तो बहन भी प्यार से कह देती है कि मुझे पैसे या गिफ्ट नहीं तेरा प्यार ही काफी है। लेकिन कुछ बहनें मरी तरह भी होती हैं जो बिना गिफ्ट्स लिए नहीं मानतीं ।

4. पापा के साइन कर दे

अक्सर भाई बचपन में पढाई के मामले में पीछे होते हैं। ऐसे में अक्सर वो अपने पेपर में नंबर कम आने पर बहन को पापा के साइन करने को बोलता हैं क्योंकि बहनें इन मामलों में थोड़ी तेज होती हैं और अपने पापा के साइन भी कर लेती हैं। साइन करने के बदले में बहन भाई से कोई अच्छी चीज की डिमांड रखती है और भाई को मज़बूरी में उसकी बात माननी पड़ती है।

5. आधा तेरा, आधा मेरा

बचपन में जब कभी माँ-पापा से पॉकेट मनी मिलने पर दोनों अपनी-अपनी मनपसंद चीजें लेते हैं लेकिन पोकेट मनी कम होती है तब दोनों अपनी पोकेट मनी को इकट्ठा करके खाने का सामान लाते हैं और फिर आधा-आधा मिल कर खाते हैं। ज्यादातर ऐसा होता है कि भाई अपनी चीजें जल्दी खाकर खत्म कर लेता है और अपनी बहन की भी हिस्से का खाकर खत्म कर देता है। वैसे तो अब ए बचपना सा लगता है लेकिन कभी-कभी ए चीजें आज भी वैसी की वैसी होती हैं चाहे हम कितने ही बड़े क्यों न हो जाएँ। भाई-बहन के बीच होने वाली यह डील वास्तव में बहुत प्यारी है।

6. मम्मी-पापा की डांट से बचाना

भाई-बहन खुद चाहे जितनी मर्जी एक-दुसरे से लड़ाई कर लें, लेकिन जब मम्मी-पापा डांटते है तो अक्सर वह एक-दुसरे की साइड लेते हैं और एक-दूसरे को उनकी डांट से बचाने की कोशिश करते हैं।

वैसे तो चाहे जो भी डील हों उनके बीच प्यार कभी कम नहीं होता और इन डील्स से उनका रिश्ता और भी मजबूत होता हैं।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in

Categories
सामाजिक सजावट

वेल्थशिप से करें घर की सजावट और पाएं ये 8 फायदे

वेल्थशिप वास्तु लायेगा आपके घरों में पॉजिटिव एनर्जी


अगर आप वास्तु या फेंग शुई में विश्वास रखते हैं तो घर या ऑफिस की डैकोरेशन आपके लिए वेल्थशिप रखना काफी फायदेमंद होगा। सिक्के रखने वाले इस जहाज के बहुत सारी पाजिटिविटी भरी हुई है। इसके घर में मौजूद होने से घर की नेगेटिव एनर्जी से लेकर कई और समस्याए भी दूर हो जाती है। जहाज की शेप में बने इस वेल्थशिप से घर की नेगेटिव एनर्जी से लेकर कई और समस्याए भी दूर हो जाती है।

वेल्थशिप

Related : जानिए कैसे कैसे करे क्रिसमस की सजावट

आइए जानते है घर में वेल्थ शिप रखने से क्या-क्या फायदे होते है: –

वेल्थशिप रखने के फायदे:-

1. सिक्के रखने वाले इस वेल्थ शिप को घर में सजाने से धन की कभी कमी नहीं होती।

2. इससे घर की सारी निगेटिव एनर्जी दूर होती है।

3. फेंग शुई या वास्तु के अनुसार इससे घर का माहौल भी काफी खुशनुमा और अच्छा रहता है।

4. ऑफिस में इसे लगाने से कारोबार अच्छा चलता है और कार्य में सफलता मिलती है।

5. एक चीज़ का खास ख्याल रखें कि भूलकर भी इस जहाज का मुंह दरवाजे की तरफ न करें। इससे धन हानि तो होती ही है साथ ही साथ इससे घर पर भी बुरा प्रभाव पड़ता है।

Related : नये साल पर घर की सजावट करें कुछ इस तरह

6. इसके अलावा घर में कभी भी डूबती नाव या डूबता हुए नाव की फोटो को नहीं रखना चाहिए।

7. बेडरूम में इसे लगाने से पति-पत्नी के रिश्तें में स्नेह और एक-दुसरे के लिए प्यार बढ़ता है। इसके अलावा इससे घर के रिश्तों पर भी पॉजिटिव असर पड़ता है।

8. यह दिखने में इतना सुन्दर और आकर्षक है कि इस वेल्थशिप किसी को आप चाहें तो किसी को गिफ्ट भी कर सकते है जिससे उनके घर भी खुशहाली आये।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in

Categories
सुझाव

पालक है कई शारीरिक समस्याओं का रामबाण उपाय

पालक और पालक के जूस के कुछ चमत्कारी गुण


आमतौर पर लोग पालक को सब्जी बनाकर या फिर पराठे के साथ मिक्स कर खाना पसंद करते हैं। लेकिन अगर आप चाहते है कि आपको पालक का पूरा-पूरा फायदा, तो आपके लिए पालक का जूस पीना सबसे ज्यादा फायदेमंद रहेगा। पालक की पत्त‍ियों में शारीरिक विकास के लिए लगभग सभी आवश्यक पोषक तत्व मौजूद होते हैं। मिनरल्स, विटामिन और दूसरे कई न्यूट्रीएंट्स से भरपूर होता है पालक, इसे हम एक सुपर-फूड भी कह सकते है।

पालक

आइए जानते हैं पालक के कुछ और भी सुपर लाभकारी गुण: –

· पालक के सौ ग्राम रस में गाजर का सौ ग्राम रस मिलाकर पीने से एनीमिया के रोग में तेजी से खून की वृद्धि होती है। खांसी और श्वास फूलने की समस्या से मुक्ति के लिए पालक के रस में शहद और काली मिर्च का चूर्ण मिलाकर दिन में कई बार थोड़ा-थोड़ा पिएं।

· पथरी की समस्या के लिए पचास ग्राम पालक के रस में पचास ग्राम कुल्थी का रस मिलाकर, नींबू का रस डालकर, सुबह-शाम सेवन कीजिए। पथरी के रोगी को बहुत लाभ होता है। इसके सेवन से पथरी भी धीरे-धीरे नष्ट होने लगती है।

· थायराइड की समस्या होने पर सौ ग्राम पालक के रस में शहद और थोड़ा-सा जीरे का चूर्ण मिलाकर सेवन करने से बहुत लाभ होता है। चेहरे के मुहांसे, झुर्रियों को दूर करने के लिए और त्वचा में निखार के लिए पालक के रस में गाजर और टमाटर का रस मिलाकर रोजाना सुबह-शाम सेवन कीजिए।

· पालक के सौ ग्राम रस में गाजर का सौ ग्राम रस मिलाकर पीने से शरीर में तेजी से खून की वृद्धि होती है। गर्भवती महिलाओं के लिए ये बेहद फायदेमंद है।

· पालक के पत्तों को अजवायन के साथ पीसकर,पानी में घोलकर पीने से कुछ ही दिनों में पेट के कीड़े दूर होते हैं और मल के साथ निकल जाते हैं। ये समस्या बच्चों में अक्सर देकने को मिलती है।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in

Categories
स्वादिष्ट पकवान

अपने बच्चों को करें सरप्राइज इस चॉकलेट कपकेक की रेसिपी से

घर बैठे आसानी से बनाएं चॉकलेट कपकेक


चॉकलेट भला किसे नहीं पसंद, बच्चे हो या बूढ़े सभी कि फेवरिट होती है। वैसे तो चॉकलेट खाने की कोई उम्र नहीं होती। आज चॉकलेट से ही रिलेटेड रेसिपी की बात करने जा रहे है। कपकेक का नाम तो आप सबने सुना ही होगा। खासकर बच्चों की तो ये एक पसंदीदा डिश है ही, वे इसे बड़े ही चाव से खाते हैं। चलिए आज आपको चॉकलेट कपकेक आसानी से घर पर बना सकते हैं और अपने बच्चों को सरप्राइज कर सकते है। इसे बनाने में ज्यादा समय भी नहीं लगता है।

चॉकलेट कपकेक

आइए आपको बताते हैं चॉकलेट कप केक बनाने की विधी: –

सामग्री :-

  • मक्खन- 1 कप
  • कंडेन्स्ड मिल्क- आधा कप
  • चीनी- 1 बड़ा चम्मच
  • वेनिला एसेन्स- आधा छोटा चम्मच
  • मैदा- 1 कप
  • बिना शक्कर का कोको पाउडर- 3 बड़े चम्मच
  • बेकिंग पाउडर- 1 छोटा चम्मच
  • बेकिंग सोडा- आधा छोटा चम्मच
  • नमक- 1 चुटकी
  • चॉकलेट चिप्स- 2 बड़े चम्मच

विधी:-

  • एक बाउल में मक्खन लें और इसे अच्छे से फेटें, अब इसमें एक बड़ा चम्मच शक्कर और इसमें कंडेन्स्ड मिल्क मिलाएं। इसे फिर से फेटें जिससे यह मिश्रण एकदम हल्का हो जाए और इसके इन्ग्रेडीएंट अच्छे से मिक्स हो जाए।
  • अब इसमें वेनिला एसेन्स कि कुछ बूंदें डालें और कुछ समय के लिए और फेटें।
  • मैदा, कोको पाउडर, बेकिंग पाउडर और नमक को अच्छे से दो-तीन बार छान लें।
  • अब मैदा के मिश्रण को कंडेन्स्ड मिल्क और मक्खन के मिश्रण में थोड़ा-थोड़ा करके डालें और अच्छे से फेटते रहें। आप इसमें थोड़ा-सा गुनगुना पानी डाल सकते हैं।
  • माइक्रोवेव में रखे जाने वाले कप में थोड़ा-सा मक्खन लगाकर इसे चिकना कर लें, अब घोल को कप में डालें।
  • ध्यान रहे कि कप को आप एक तिहाई ही भरें जिससे केक के बेक के लिए इसमें जगह रहे।
  • इसे माइक्रोवेव में पकने के लिए रखें, जब कपकेक पक जाए तो इसके ऊपर से चॉकलेट के टुकड़े से सजाएं और सर्व करें।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in

Categories
लाइफस्टाइल

घर में डोमेस्टिक सर्वेंट रखते समय रखें इन 5 बातों का ध्यान

बड़े नुकसान से बचना चाहते हैं तो सोच-समझकर रखें डोमेस्टिक सर्वेंट


आज की कामकाजी जिंदगी में घर का काम करने के लिए डोमेस्टिक हेल्पर (नौकर या नौकरानी) की मदद लेना अब आम बात है। खास कर शहरों में रह रहे कामकाजी दंपति इन पर खासा निर्भर रहने लगे हैं। डोमेस्टिक हेल्प पर बढ़ती निर्भरता का ही नतीजा है कि हम डोमेस्टिक हेल्प रखते समय कई अहम बातों को नजरअंदाज करने लगे हैं, जो आगे चलकर मालिक के लिए एक बड़ी मुसीबत साबित हो सकती है।

डोमेस्टिक सर्वेंट

महत्वपूर्ण बातें

• जाने-अनजाने में कई बार होती है मकान मालिकों से यह भूल
• हेल्पर को लेकर जानकारी न होना सबसे बड़ी समस्या
• घर की बातों को साझा करने से भी बचें

दरअसल, बीते कुछ वर्षों में डोमेस्टिक हेल्पर के आपराधिक मामलों में शामिल होने की कई घटनाएं सामने आई हैं। दिल्ली में कई ऐसे गैंग्स भी पकड़े गए हैं जो डोमेस्टिक हेल्प मुहैया कराने के नाम पर चोरी और लूट करते थे। दिल्ली व अन्य महानगरों में आए दिन इस तरह की घटनाएं सामने आती रही हैं। ऐसे में कहीं आपके साथ भी भविष्य में इस तरह की कोई घटना न हो इसके लिए जरूरी है कि डोमेस्टिक हेल्प का चुनाव करते समय आप कुछ सावधानी बरतें।
आइए जानते हैं कि कौन से हैं वह पांच महत्वपूर्ण बातें जिसका आपको हमेशा ध्यान में रखना चाहिए:-

1. डोमेस्टिक हेल्प से जुड़ी जानकारी रखें

अक्सर डोमेस्टिक हेल्प रखते समय उसकी सैलरी और वह कितने दिन काम करने आएगा/आएगी पर ज्यादा ध्यान देते हैं। डोमेस्टिक हेल्प चुनते समय उससे जुड़ी कई अन्य बातों, मसलन वह पहले कहां काम करता था/ करती थी, उसे वहां से काम क्यों छोड़ना पड़ा, क्या वह पहले किसी आपराधिक मामले में शामिल रहा/रही है और पहले के मालिक के साथ उसका कैसा बर्ताव था, के बारे में कुछ मालूम नहीं करते। इस तरह की जानकारी के अभाव में ही हम अक्सर आपराधिक प्रवृति के लोगों को काम पर रख लेते हैं। जबकि इन बातों का खास तौर पर ध्यान रखना चाहिए।

2.पुलिस से तुरंत कराएं सत्यापन

मकान मालिक अक्सर डोमेस्टिक हेल्प रखने के बाद उसका पुलिस से सत्यापन कराना भूल जाते हैं। मकान मालिक की इस लापरवाही का उन्हें काफी खामियाजा भुगतना पड़ सकता है। किसी भी डोमेस्टिक हेल्प को रखने के कुछ दिन के भीतर ही आपको उसका सत्यापन कराना चाहिए। इससे आपके पास व स्थानीय पुलिस के पास हेल्पर से जुड़ी तमाम जानकारी होगी और भविष्य में किसी तरह की घटना होने के बाद पुलिस को उसे गिरफ्तार करने में आसानी होगी।

3.घर को कभी उनके भरोसे न छोड़ें

डोमेस्टिक हेल्प रखने के बाद कोशिश करें कि वह जब तक आपके घर में रहे आपके परिवार में से कोई न कोई सदस्य या आपका कोई करीबी घर पर मौजूद हो। बीते कुछ वर्षों में हुई घटनाओं को अनुसार उन घरों में लूट और चोरी की वारदातें ज्यादा हुई हैं जहां घर में ज्यादातर समय डोमेस्टिक हेल्पर अकेला रहा हो। पुलिस के अनुसार हेल्पर कुछ दिन मकान मालिक का विश्वास जीतने के बाद बड़ी आपराधिक घटनाएं करते है। इसीलिए आप कभी भी डोमेस्टिक हेल्पर के भरोसे घर न छोड़ें।

4.नकदी और आभूषण सामने न रखें

डोमेस्टिक हेल्पर के साथ कुछ समय रहने के बाद अक्सर मकान मालिक उसकी मौजूदगी में ही नकदी और आभूषण रखने लगते हैं। लिहाजा कोशिश करें कि डोमेस्टिक हेल्पर को दिखाकर महंगे आभूषण और नकदी न रखे जाएं।

5.जरूरी पासवर्ड और चाभी साझा न करें

आपका डोमेस्टिक हेल्पर चाहे कितना ही पुराना क्यों न हो, आपको चाहिए कि आप उससे अपने घर से जुड़े अहम पासवर्ड और चाभियां उसके शेयर न करे। आपकी यह गलती कई बार हेल्पर को आपराधिक घटनाएं करने के लिए उकसाती है।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in