नारायण सिंह को मिली उम्र कैद की सज़ा

0
28
narayan sai

जाने क्या है  नंबर 1750 का सच?


रेप केस में दोषी करार आसाराम  के बेटे नारायण सिंह को सूरत के सेशन कोर्ट ने उम्र कैद की सज़ा सुनाई है. जिसके चलते अब नारायण सिंह सूरत की लाजपोर जेल में बंद रहेगा.अब नारायण सिंह की नयी पहचान है कैदी नंबर 1750 .

इसके साथ ही नारायण सिंह साई पर कोर्ट द्वारा आरोप तय होने के बाद उसके लिए जेल के सभी नियम बदल दिए गए है जिसमे नारायण अब बैरक नंबर 6 में  रहेगा और बाकि कैदियों की तरह उसके साथ भी वैसा ही व्यव्हार और कानून लागु होगा जो बाकी कैदी के साथ होता है.

इसके अलावा कोर्ट ने आरोपी नारायण सिंह साईं के तीन सहयोगियों  को भी अलग-अलग अपराधों के तहत दोषी ठहराया और उन्हें भी 10-10 साल की जेल की सजा सुनाई है. तीन में से दो सहयोगी महिलाएं हैं जिन्हे 2013  में  लाजपोर के जेल में  बंद  किया गया है.वही नारायण सिंह के ड्राइवर राजकुमार उर्फ रमेश मल्होत्रा को भी छह  महीने के लिए सजा सुनाई गयी है.

जाने  क्या था पूरा मामला ?

आपको बता दे की 2002  में पीड़ित दोनों बहनो ने खुद के साथ रेप होने की बात कही थीं  और फिर 2013  में  दोनों बहनो की शिकयत दर्ज कर ली गयी थी. फिर 50 से अधिक गवाहों के बयान सुनने के बाद नारायण साईं के खिलाफ कोर्ट ने फैसला सुनाया.

यहाँ भी पढ़े:आसाराम का बेटा रेप  केस  में दोषी करार

नारायण साईं पिछले 5 साल से जेल में बंद है.लेकिन अब जाकर रेप  केस में  नारायण सिंह को उम्र कैद की सज़ा सुनाई गई है.वही सेशन कोर्ट ने नारायण सिंह को उम्र कैद की सजा सुनाने के बाद पीड़ित दोनों बहनो को 5 लाख रूपए देने का भी आदेश दिया है.

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in