हॉट टॉपिक्स

गरीबों, मुस्लिमों, शोषितों के खिलाफ UAPA का इस्तेमाल कर रही है बीजेपी – ओवैसी

मुस्लिमों को राजनीति से दूर रखना चाहते हैं.


अपने बेबाक बयानों को कारण हमेशा खबरों में रहने वाला हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन औवेसे ने एक बार फिर केंद्र को अड़े हाथों लिया है. बीजेपी पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा है कि गरीबों, शोषितों और मुस्लिमों के खिलाफ बीजेपी सरकारें UAPA कानून का इस्तेमाल कर रही है ताकि उन्हें कैद में रखा जाए. .

संघ नहीं चाहता मुस्लिम राजनीति में आए

दरअसल सारा मामला शनिवार ट्विटर का है. शिवम विज नाम शख्स ने द प्रिंट की खबर  ‘The BJP doe not want Owaisi, the BJP does not need Owaisi. इस बात का जवाब देते हुए औवेसी ने कहा कि हिंदुत्व इस झूठ पर बना है कि केवल एक समुदाय के पास सभी राजनीतिक शक्ति होनी चाहिए और मुसलमानों को राजनीति में भाग लेने का अधिकार नहीं होना चाहिए. संसद और विधानसभाओं  में हमारी अधिकारिक उपस्थिति हिंदुत्व संघ के खिलाफ चुनौती का काम करेगी. अगर अपनी मौजूदगी कायम कर पाए तो जश्न मनाएंगे. इतना ही नहीं राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ(आरएसएस) पर हमला करते हुए कहा कि संघ नहीं चाहता है कि मुस्लिम भी देश की राजनीति में आएं संसद और विधानसाओं की में बैठे.

और पढ़ें: केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो का बयान तृणमूल कार्यकर्ताओं से निपटने के लिए संविधान में प्रवधान मौजूद है

owasi

मॉब लिचिंग का किया जिक्र

एक के बाद एक औवेसी ने लगातार तीन ट्वीट किए हैं. दूसरे ट्वीट में मॉब लिचिंग का जिक्र करते हुए कहा कि बीजेपी के सांसद तो मॉब लिचिंग के आरोपी को फूल माला पहनाते हैं. गांधी के हत्यारे के लिए उनकी सांसद श्रद्धा भाव प्रकट करती है.

तीसरे और आखिरी ट्वीट में उन्होंने लिखा- चलिए अब यह साफ कर देते हैं कि UAPA कानून का इस्तेमाल बीजेपी सिर्फ मुस्लिम, दलित और गरीब पर कर रही है. सदियों से मुस्लिमों और दलित युवाओं को प्रताड़ित किया जा रहा है. यह विश्वास करना अब मुश्किल हो रहा है यह सब सामान्य हो गया है.

आपको बता दें हाल ही हुए बिहार विधानसभा चुनाव में औवेसी की पार्टी एआईएमआईएस ने सीमांचल पर पांच सीटों पर फतह पाई थी. जिसके बाद यह माना जा रहा है कि आने वाले बंगाल चुनाव में भी मैदान में उतर सकते हैं. ऐसे समय में औवेसी का यह बयान राजनीति गलियारे में कुछ नया संदेश दे रहा है.

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Hey, wait!

अगर आप भी चाहते हैं कुछ हटके वीडियो, महिलाओ पर आधारित प्रेरणादायक स्टोरी, और निष्पक्ष खबरें तो ऐसी खबरों के लिए हमारे न्यूज़लेटर को सब्सक्राइब करें और पाए बेकार की न्यूज़अलर्ट से छुटकारा।