लॉकडाउन में एम्स के सैकड़ों कर्मी हड़ताल की तैयारी में, निदेशक को दी चेतावनी

0
44
aiims doctor strike

AIIMS nursing staff prepares to go on strike


देश के सबसे बड़े अस्पताल एम्स के नर्सिंग स्टाफ ने की हड़ताल पर जाने की तैयारी

दिल्ली के एम्स अस्पताल का नर्सिंग स्टाफ अपनी मांगों की सुनवाई न होने के चलते बुधवार को एम्स के डायरेक्टर को चेतावनी भरा ईमेल भेजते हुए कर्मचारियों ने 10 जून को मास लीव और 15 जून से अनिश्चित कालीन हड़ताल पर जाने की घोषणा की है।

इसके लिए उन्होंने अस्पताल के डायरेक्टर डॉ रणदीप गुलेरिया को पत्र भी लिखा। कोरोना वायरस महामारी के इस महासंटक के दौरान यदि देश के सबसे बड़े अस्पताल एम्स का नर्सिंग स्टाफ हड़ताल पर चला जायेगा तो बहुत गंभीर स्थिति पैदा हो जाएगी।

और पढ़ें: श्रमिक स्पेशल की स्पेशल सेवा भूख, प्यास और लूट: आखिर क्यो रह जाती हैं हमेशा निष्पादन में कमी? 

क्या मांग कर रहा है एम्स का नर्सिंग स्टाफ

एम्स का नर्सिंग स्टाफ पिछले कई दिनों से डायरेक्टर से गुहार लगा रहा है कि उनकी ड्यूटी 8-6 घंटे के स्थान पर 4 घंटे की कर दे। 8 घंटे तक लगातार पीपीई किट पहनकर काम करना उनके लिए हानिकारक साबित हो रहा है। इसके साथ ही उनकी ये भी मांग है कि ड्यूटी को रोटेश्नल किया जाए। जिससे की नर्सिंग स्टाफ के हर व्यक्ति को थोड़ा आराम करने का समय भी मिल सके। लेकिन उनकी सुनवाई न होने के चलते अब नर्सिंग स्टाफ हड़ताल की तैयारी में है।

एम्स का नर्सिंग स्टाफ 15 जून से कर सकता है अनिश्चित कालीन हड़ताल

एम्स का नर्सिंग स्टाफ अपनी मांगों को लेकर 1 जून से लगातार एम्स के कार्यालय जा रहा है, लेकिन अब तक उनकी माग पर न तो किसी अधिकारी ने कुछ बोला न ही उनकी कोई सुनवाई हुई।  इस लिए अब एम्स का पूरा नर्सिंग स्टाफ 10 जून को मास लीव के चलते एक साथ छुट्टी पर रहेगा। अगर इसके बाद भी उनकी मांगे नहीं मानी जाती तो वो लोग 15 जून से अनिश्चित कालीन हड़ताल पर चले जाएंगे। अगर ऐसा हुआ तो कोरोना महामारी के बिच एक बड़ी समस्या उत्पन्न हो जाएगी।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com