हॉट टॉपिक्स

Success Story: चाय बेचने वाले की बेटी की ऊंची उड़ान, किया इंडियन एयर फोर्स अकादमी में टॉप

आंचल गंगवाल इंडियन एयरफोर्स एकेडमी से हुई ग्रेजुएट


मध्य प्रदेश के नीमच बस स्टैंड पर चाय बेचने वाले की बेटी आंचल गंगवाल भारतीय वायुसेना में फ्लाइंग ऑफिसर बन गईं है। 23 साल की आंचल गंगवाल ने इंडियन एयर फोर्स अकादमी से ग्रेजुएशन पूरा किया है। आंचल गंगवाल के पिता ने जब उनको टीवी पर यूनिफार्म पहने पुरस्कार लेते देख तो उनकी आँखे खुशी से छलाछला उठी। आंचल गंगवाल के पिता सुरेश गंगवाल मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल के नीमच बस स्टैंड पर पिछले 25 साल से एक छोटी सी चाय की दुकान चलाते है। अब मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आंचल गंगवाल की सफलता पर उन्हें बधाई दी।

aanchal gangwal

आंचल गंगवाल ने कितने प्रयासों में पाई परीक्षा में सफलता

आंचल गंगवाल के पिता सुरेश गंगवाल ने बताया कि आंचल की ये परीक्षा छठे प्रयास में सफल हुई। उन्होंने कहा, ‘मैं पिछले करीब 25 साल से नीमच बस स्टैंड पर चाय की दुकान लगाता हूं। इसलिए कोई भी व्यक्ति मेरी आर्थिक स्थिति समझ सकता है। उन्होंने बताया कई बार उनके पास आंचल की स्कूल या कॉलेज की फीस भरने के लिए पैसे भी नहीं होते थे। तो कई बार वो उधार लेकर आंचल की फीस भरते थे। साथ ही सुरेश गंगवाल ने कहा उनको आंचल पर गर्व है। आंचल आज एक फ्लाइंग ऑफिसर बन चुकी है।

और पढ़ें: जाने कौन है दुनिया की पहली महिला एयर होस्टेस, जिन्होंने विमान इंडस्ट्री में किए बड़े बदलाव

कैसे शुरू हुआ आंचल गंगवाल को फ्लाइंग ऑफिसर बने का सपना

आंचल गंगवाल के पिता सुरेश गंगवाल बताया कि 2013 में उत्तराखंड के केदारनाथ में आई भीषण त्रासदी के बाद से आंचल ने फ्लाइंग ऑफिसर बनने का सपना देखा था। दरअसल, केदारनाथ में आई भीषण त्रासदी में वायुसेना के कर्मचारी बहादुरी से वहां लोगों की मदद करने में लगे थे ये देख कर आंचल ने ठान ली थी कि वो भी फ्लाइंग ऑफिसर बनेगी और लोगों में मदद करेगी। जब से ही आंचल ने अपने सपने को साकार करने के लिए तैयारी शुरू कर दी। आज आंचल गंगवाल का ये सपना पूरा हो गया।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Hey, wait!

अगर आप भी चाहते हैं कुछ हटके वीडियो, महिलाओ पर आधारित प्रेरणादायक स्टोरी, और निष्पक्ष खबरें तो ऐसी खबरों के लिए हमारे न्यूज़लेटर को सब्सक्राइब करें और पाए बेकार की न्यूज़अलर्ट से छुटकारा।