श्रीलंका बम धमाके में मरने वालों की संख्या 290 से पार ,एक बम को किया डिफ्यूज

0
43
terrorist attack

सोशल मीडिया को किया गया बंद,  पूरे देश में 12 घंटे का कर्फ्यू


बीते रविवार ईस्टर के पवित्र अवसर में अपनी श्रद्धा और धार्मिक सोच लेकर सभी लोग अपने परिवार वालो के साथ चर्च पहुंचे थे लेकिन कुछ ही समय में वहां का मंजर दिल दहला देने वाला हो गया ,आस्था की गूँज कब चीख पुकार में तब्दील हो गयी  पता ही नहीं चला ,धीरे धीरे लाशो और घायल लोगो  के ढेर लगने शुरू हो गए देखते ही देखते श्रीलंका की राजधानी कोलम्बो  में लगातार एक के बाद एक धमाके हुए,और लाशो की गिनती 100 फिर 200 होती चली गयी रविवार रात्रि मरने वालो की संख्या 217 थी जो की अब 290 पहुंच चुकी है  जिसमे घायलों की संख्या 450 से भी अधिक है और कुछ तो संघीन रूप से घायल हैं  .

कोलम्बो एयरपोर्ट के पास मिला एक और बम ,सुरक्षा बल ने किया डिफ्यूज

आज सोमवार की सुबह पुलिस जांच में एक बम डिटेक्ट किया गया जिसे सुरक्षा बलों  द्वारा बड़ी ही सावधानी पूर्वक डिफ्यूज़  कर दिया गया है यदि सुरक्षा बल द्वारा मौके पर कार्यवाही ना की जाती तो एक और बम धमाका हो सकता था सुरक्षा और अफवाहों से बचने के लिए श्रीलंका के सभी इलाको का इंटरनेट अस्थायी रूप से बंद कर दिया गया है और सभी सोशल मीडिया साइट पर रोक लगा दी गयी है ,धमाकों के बाद पूरे इलाके में भगदड़ की स्थिति पैदा हो गयी थी जिसे देखते हुए रविवार शाम 6 बजे से सोमवार सुबह 6 बजे तक सभी इलाको में कर्फ्यू लगाया गया था .

यहाँ भी पढ़े:मोदी करेंगे आतंकवाद को जड़ से खत्म 

बम धमाकों में चार भारतीयों की भी हुई  मौत

मृतकों में 11 विदेशी नागरिक हैं जिनमें पोलैंड, डेनमार्क, चीन, जापान, पाकिस्तान, अमेरिका, भारत, मोरक्को और बांग्लादेश के लोग शामिल हैं. 9 लापता और 25 मृतकों की शिनाख्त नहीं हो सकी है. फिलहाल 19 विदेशी नागरिकों का अलग-अलग अस्पतालों में इलाज चल रहा है.  बताते चले की मरने वालो में 4 भारतीय लोग भी शामिल हैं अब तक किसी भी आतंकवादी संगठन ने इन धमाकों की जिम्मेदारी नहीं ली है आपको बताते चले की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बीते दिन राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना से फोन पर बात करते हुए सांत्वना दिया और ये भी संतुष्ट किया की भारत अपने पडोसी देशो के साथ आतंकवाद के खिलाफ मजबूती से खड़ा रहेगा.

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in