बिना श्रेणीहॉट टॉपिक्स

बिहार चुनाव में कहीं सीट को लेकर बनी बात कहीं अभी भी है राग

                   महागठबंधन में कांग्रेस को मिली 70 सीटें


बिहार में चुनाव का आगाज शुरु हो गया है.  सितंबर के आखिरी सप्ताह में आयोग द्वारा चुनाव की तारीखों का ऐलान कर दिया गया था. राज्य में तीन चरणों में चुनाव होगें. तारीख का ऐलान होने के बाद से ही  पार्टियों के गठबंधन की चर्चा भी बहुत जोरों शोरों से चल रही है. राज्य में मुख्य रुप से तीन राजनीतिक गठबंधन हैं. जिनमें सीटों को लेकर लगातार मामला कहीं बन रहा है तो कहीं बात बनाने की कोशिश की जा रही है.

कांग्रेस की 70 सीटों पर बनी बात

गठबंधन की पहली कड़ी में आज महागठबंधन ने अपनी 243 सीटों के बंटवारे का ऐलान कर दिया है. आज शाम पटना में आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने प्रेस कांफ्रेस कर सीटों के बंटवारे की घोषणा की. महागठबंधन में आरजेडी को 144, कांग्रेस 70, सीपीएम 4, सीपीआई 6, सीपीआई माले 19 सीटें दी गई है. जबकि हेमंत सोरेन और वीआईपी को राजद अपने कोटे से सीट देगी.

महागठबंधन से वीआईपी हुई अलग

सीट बंटवारों के बीच बात न बनती देख वीआईपी (विकासशील इंसान पार्टी) के अध्यक्ष मुकेश सहनी प्रेस कांफ्रेंस से उठकर चले गए. इस बीच वीआईपी के कार्यकर्ताओ की झड़प शुरु हो गई. अध्यक्ष मुकेश सहनी ने महागठबंधन छोड़ने का ऐलान कर दिया. उन्होंने राजद पर अति पिछड़ों की  पीठ पर में खंजर घोंपने का आरोप लगाया. उनका कहना था कि अति पिछड़ा समाज होने के कारण राजद ने धोखा दिया. गौरतलब है कि वीआईपी आने वाले विधानसभा चुनाव में 25 सीटों के साथ-साथ उपमुख्यमंत्री की मांगकर रहा था और जबकि प्रेस कांफ्रेस में यह बताया गया कि उसे राजद के कोटे से उन्हें सीट दी जाएगी.

एनडीए में नही बन रही बात

महागठबंधन के सीटों के बंटवारे के लेकर रास्ता साफ हो गया है. लेकिन एनडीए में अभी राग जारी है. लोजपा के चिराग पासवान सीटों को लेकर अलग ही राग अलाप रहे हैं. खबर लिखे जाने तक एनडीए के साथ सीट के लेकर कोई भी रास्ता साफ नहीं हो पाया है. खबरें यहां तक है कि लोजपा ने एनडीए से अलग होने का फैसला कर लिया है. वहीं दूसरी ओर बिहार बीजेपी प्रभारी भूपेंद्र यादव और देवेंद्र फडनवीस चार्टर्ड प्लेन से आज दिल्ली वापस चलें गए हैं. आज सुबह चिराग पासवान ने ट्वीट कर प्रधानमंत्री की तारीफ की लेकिन गठबंधन को लेकर कोई चर्चा नहीं की है.

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
Back to top button